Har EK Bat
Posted in Public Post Shayar and Poet Shayari

हर एक बात – मिर्ज़ा ग़ालिब – महफिले-ऐ-ग़ज़ल

हर एक बात – ग़ालिब  हर एक बात पे कहते हो तुम के तू क्या है तुम्हीं बताओ ये अन्दाज़-ए-गुफ़्तगू क्या है रगों में दौड़ते…

Continue Reading...
Mohsin Naqvi Shayari
Posted in Dard Shayari Public Post Shayar and Poet Shayari

दर्द के लम्हे शायरी – मोहसिन नक़वी (Mohsin Naqvi)

        थक जाता हूँ – “मोहसिन”  अश्क़ आँखों में छुपाये हुए थक जाता हूँ बोझ पानी का उठाये हुए थक जाता हूँ…

Continue Reading...
Mehfil shayari
Posted in Public Post Shayari

दिल तो जले मगर ‘राख ‘ न हो – महफ़िल शायरी

    दिल मौजूद न था उन को देखा तो कुछ खोने का एहसास हमे हुआ हाथ सीने पे जो गया तो दिल मौजूद न…

Continue Reading...
Parveen Shakir
Posted in Public Post

तेरे बदलने के बावसफ भी तुझ को चाहा है – परवीन शाकिर

  यह एतराफ़ भी तेरे बदलने के बावसफ भी तुझ को चाहा है यह एतराफ़ भी शामिल मेरे गुनाहों में है … हिंदी और उर्दू…

Continue Reading...