बरसात शायरी – The Weather of Romance and Lovers

 

 

This column is dedicated to Barsaat shayari
“The weather of  Romance and Lovers

बरसात का मौसम हमेशा जवां दिलो को धड़कने पर मजबूर करता रहा है .
बरसात के मौसम को  
“The weather of Romance”  भी कहते है , बारिश की बूंदें हर किसी को अपना दीवाना बना लेती है , बारिश में अपने मेहबूब को भीगते देखना हर किसी को लुभाता है , किसी के चेहरे पर बारिश की बूंदें दिल को पागल कर देती है और किसी को अपने मेहबूब की याद दिला देती है , बरसात का मौसम हमेशा ही शायरों और कवियों को लिखने पर मजबूर करता है .हिंदी और उर्दू शायरी तो बरसात की  शेयर -ओ -शायरी के बिना अधूरी ही रहती.

Like it
[Total: 7330 Average: 3]

मिटटी की फिदरत

जो मुँह को आ रही थी वो लिपटी है पाँवों से
बारिश के बाद मिटटी की फिदरत बदल गयी

URDU AND HINDI SHAYARI – BARSAAT AUR BARISH SHAYARI- jo muh ko aa rahi thi wo lipti hai paoon se
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

बारिश के बाद

हो गयी रूखसत घटा बारिश के बाद
एक दिया जलता रहा बारिश के बाद

मेरे बहते हुए आंसुओ को देख कर
रो पड़ी ठंडी हवा बारिश के बाद

मेरी तन्हाई का दामन थाम कर
कुछ उदासी ने कहा बारिश के बाद

याद तेरी ओढ़ कर में सो गयी
ख्वाबों का दर खुल गया बारिश के बाद

चाँद देख कर बादलों की क़ैद में
एक सितारा रो दिया बारिश के बाद

अपने घर की हर कच्ची दीवार पर
नाम तेरा लिख दिया हमने बारिश के बाद

DARD KI SIYAHI URDU SHAYARI – NAAM TERA LIKH DIYA HUMNE BAARISH KE BAAD
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

आदतें बदलने से बारिशें कहाँ रूकती है

बरसात के मौसम तुम को याद करना आदत पुरानी है
अब की बरसात यह आदत बदल डालें ऐसा ख्याल आया है
फिर ख्याल आया के आदतें बदलने से बारिशें कहाँ रूकती है

URDU AND HINDI SHAYARI – BARSAAT AUR BARISH SHAYARI – Aadatain badalne se Baarishain nahin rukti
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

बेवफा की कहानी

बरसात की भीगी रातों में फिर उनकी याद आई
कुछ अपने जमाना याद आया कुछ उनकी जवानी याद आई
फिर यादों के दौर चले फिर एक बेवफा की कहानी याद आई

URDU AND HINDI SHAYARI – BARSAAT AUR BARISH SHAYARI – phir ek bewafa ki kahani yaad aayi
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

आँखों की बात

इश्क़ करने वाले आँखों की बात समझ लेते है
सपनो में यार आए तो उसे मुलाकात समझ लेते है
रूठता तो आसमान भी है अपनी ज़मीन के लिए
यह तो लोग ही उसे बरसात समझ लेते है

URDU AND HINDI SHAYARI – BARSAAT AUR BARISH SHAYARI – ISHQ KARNEWALE AANKHON KI BAAT SAMAJH LETE HAI

Like it
[Total: 7330 Average: 3]

प्यास बुझती नहीं

कितनी जल्दी यह मुलाक़ात गुज़र जाती है
प्यास बुझती नहीं बरसात गुज़र जाती है
अपनी यादों से दिल दुखाया न करें
नींद आती नहीं और रात गुज़र जाती है

Urdu and Hindi Shayari – BARSAAT AUR BARISH SHAYARI- Pyaas bujhti nahi barsat guzar jati hai
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

बारिश का बरसना

हिजर के मौसम में यह बारिश का बरसना कैसा
एक शहर में समंदर का ठहरना कैसा
ऐ मेरी दिल न परेशान हो तन्हा होकर
वो तेरे साथ चला कब था फिर बिछडना कैसा

Urdu and Hindi Shayari – Barsaat aur Barish Shayari– Hijar ke Mausm mai yeh Barish ka barasna kaisa
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

हज़ारों बहाने

जो आना चाहो हज़ारों रास्ते
न आना चाहो तो हज़ारों बहाने
मिज़ाज-ऐ-बरहम , मुश्किल रास्ता
बरसती बारिश और ख़राब मौसम

Urdu and Hindi Shayari – Barsaat aur Barish Shayari– NA AANA CHAHO to HAZAARON BAHANE
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

ऐ बारिश

ऐ बारिश ज़रा थम के बरस
जब मेरा यार आ जाये तो जम के बरस
पहले न बरस की वो आ न सकें
फिर इतना बरस की वह जा न सकें

Urdu and Hindi Shayari – Barsaat Shayari– Phir itna baras ki wo ja na sake
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

तेरी याद

आज फिर तेरी याद आई बारिश को देख कर
दिल पे ज़ोर न रहा अपनी बेबसी को देख कर
रोये इस क़दर तेरी याद में
के बारिश भी थम गयी मेरी बारिश देख कर

Urdu and Hindi Shayari – BARSAAT Shayari– Aaj Fir Teri Yaad
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

तेरी आदतें

कभी जी भर के बरसना
कभी बूंद बूंद के लिए तरसना
ऐ बारिश तेरी आदतें मेरे यार जैसी है

Urdu and Hindi Shayari – BARSAAT Shayari– Ae Barish Teri Aadatein Mere Yaar Jesi Hain
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

बारिश की बूँद

मत पूछ कितनी  “मोहब्बत ”  है मुझे उस से ,
बारिश की बूँद भी अगर उसे छु ले तो दिल में आग लग जाती है

Urdu and Hindi Shayari – BARSAAT Shayari– Baarish Ki Boond Bhi Agar
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

बरसात का मौसम

जब जब आता है यह बरसात का मौसम
तेरी याद होती है साथ हरदम
इस मौसम में नहीं करेंगे याद तुझे यह सोचा है हमने
पर फिर सोचा की बारिश को कैसे रोक पाएंगे हम

Urdu and Hindi Shayari – BARSAAT Shayari– Teri Yaad Hoti Hai Saath Hardam
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

ज़रा ठहरो के बारिश है

ज़रा ठहरो के बारिश है यह थम जाए तो फिर जाना
किसी का तुझ को छु लेना मुझे अच्छ नहीं लगता

Urdu and Hindi Shayari – BARSAAT Shayari– Zara Thehro K Baarish Hai
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

पहली मुलाकात

कुछ नशा तेरी बात का है
कुछ नशा धीमी बरसात का है
हमे तुम यूँही पागल मत समझो
यह दिल पर असर पहली मुलाकात का है

Urdu and Hindi Shayari – BARSAAT Shayari– Yeh Dil Par Asar Pehli Mulakat Ka Hai
Like it
[Total: 7330 Average: 3]

पहली बारिश

जब भी होगी पहली बारिश तुमको सामने पाएंगे
वो बूंदों से भरा चेहरा तुम्हारा हम कैसे देख पाएंगे

Urdu and Hindi Shayari – BARSAAT Shayari– Woh Bundo Se Bhara Chehra