Posted in MAUSAM SAHAYARI Public Post Shayari

बारिशों के मौसम में – शायरी

बारिशों के मौसम में – शायरी बारिशें नहीं रुकतीं बारिशों के मौसम में , तुम को याद करने की आदतें पुरानी हैं अब की बार सोचा…

Continue Reading...
Posted in MAUSAM SAHAYARI Public Post Shayari

उसे बारिशों ने चुरा लिया के वो बादलों का मकीन था

उसे बारिशों ने चुरा लिया  उसे बारिशों ने चुरा लिया के वो बादलों का मकीन था कभी मुड़ के यह भी देखा के मेरा वजूद…

Continue Reading...