ग़मगीन शायरी और दर्द भरे अफ़साने – दर्द शायरी

गम , तन्हाई  और रुसबाई में ग़मगीन शायरी और दर्द भरे अफ़साने 

नशा मोहब्बत का हो या शराब का

नशा मोहब्बत का हो या शराब का
होश दोनों में खो जाता है
फर्क सिर्फ इतना है
शराब सुला देती है
और मोहबत रुला देती है

Sad urdu shayari – Ishq ka Dard – Nasha Mohabbat Ka Ho Ya Sharab Ka

Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

इस दिल में दर्द

दिल की ख्वाहिश को नाम क्या दूँ
प्यार का उसे पैगाम क्या दूँ
इस दिल में दर्द नहीं यादें है उसकी
अब यादें ही मुझे दर्द दे तो उसे इलज़ाम क्या दूँ

Sad urdu shayari – Ishq ka Dard – Is dil me dard nahi yaaden hai uski
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

दिल डूबा है

याद करते है तुम्हे तन्हाई में
दिल डूबा है गमो की गहराई में
हमे मत ढूंढना दुनिया की भीड़ में
हम मिलेंगे तुम्हे तुम्हारी ही परछाई में

Sad urdu shayari – Ishq ka Dard – Dil duba hai gamo ki gehrai me
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

दर्द भी उसी ने दिया

सजा हमे यह कैसी मिली दिल लगाने की
रो रहे मगर तमन्ना थी मुस्कुराने की
अपना दर्द किसे दिखाऊ ऐ दोस्त
दर्द भी उसी ने दिया जो वजह थी मुस्कुराने की

Sad urdu shayari – Ishq ka Dard – Dard bhi usine diya jo wajah thi muskurane ki
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

नफरत ही सही

खुदा सलामत रखना उनको
जो हमसे नफरत करते है
प्यार न सही नफरत ही सही
कुछ तो है जो वो सिर्फ हमसे करते है

Sad urdu shayari – Ishq ka Dard – Khuda salamat rakhna unko
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

सवाल उनका

दिल को आता है जब भी ख्याल उनका
तस्वीर से पूछते हैं हाल उनका
वो कभी हमसे पूछा करते थे जुदाई क्या है
आज समझ में आया है सवाल उनका

Sad urdu shayari – Sawal Judai ka – Wo Kabhi Humse Pucha Karte The Judaai Kya Hai
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

पैग़ाम -ऐ -शौक

पैग़ाम -ऐ -शौक को इतना तवील मत करना ऐ “क़ासिद”
बस मुकतसर उन से कहना के आँखें तरस गयी हैं

SAD URDU SHAYARI – TWO LINE SHAYARI – PAIGHAM-AE-SAUK KO ITNA TAVEEL MAT KARNA AE “QASID”
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

बहलाया था दिल

मौजूद थी उदासी अभी पिछली रात की
बहलाया था दिल ज़रा सा के फिर रात हो गयी

SAD URDU SHAYARI – TWO LINE SHAYARI – BEHLAYA THA DIL ZARA SA KE PHIR RAAT HO GAYI
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

वो कितना मेहरबान था

वो कितना मेहरबान था के हज़ारों ग़म दे गया “मोहसिन”
हम कितने खुदगर्ज निकले कुछ न दे सके “मुहब्बत ” के सिवा

SAD URDU SHAYARI – TWO LINE SHAYARI – WO KITNA MEHRBAN THA KE HAZARON GHUM DE GAYA “MOHSIN”
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

दस्तक की तमन्ना

उजड़े हुए घर का मैं वो दरवाज़ा हूँ “मोहसिन”
दीमक की तरह खा गयी जिसे तेरी दस्तक की तमन्ना

SAD URDU SHAYARI – TWO LINE SHAYARI – UJDE HUE GHAR KA MAIN WO DARWAAZA HOON “MOHSIN”
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

ज़रा ठहर जाओ

थकी थकी सी फ़िज़ाएं , बुझे बुझे से तारे
बड़ी उदास गहरी रातें है , ज़रा ठहर जाओ

SAD URDU SHAYARI – TWO LINE SHAYARI – BADI UDAAS GEHRI RATEIN HAI, ZARA TEHAR JAO
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

मेरे दिल में

घर बना कर वो मेरे दिल में छोड़ गया है
न खुद रहता है न किसी और को बसने देता है

SAD URDU SHAYARI – TWO LINE SHAYARI – GHAR BANA KAR WO MERE DIL MEIN CHOD GAYA HAI
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

तन्हाई

तन्हाई मेरे दिल में समाती चली गयी
किस्मत भी अपना खेल दिखाती चली गयी
महकती फ़िज़ा की खुशबू में जो देखा तुम को
बस याद उनकी आई और रुलाती चली गयी

Urdu and Hindi Shayari – Tanhayi Shayari– Mehkti fiza ki khusbu me
Like it
[Total: 10158 Average: 3.2]

शब-ऐ-तन्हाई

हम तसब्बुर में तुझे पास बुला के रोये
तेरे हाथ को सीने से लगा के रोये
हज़ार बार पुकारा तुझे शब-ऐ-तन्हाई में
हर बार तुझको पास न पाकर रोये

Urdu and Hindi Shayari – tanhai aur yaad Shayari – hum tassbur mein tujhe pass bula ke roye

जुदाई

रो पड़ा वो शख्स आज अलविदा कहते कहते ,
मेरी शर्तों पे जो देता था धमकियाँ जुदाई की .

Urdu and Hindi Shayari – Judai Shayari – deta tha dhamkiyan Judai ki

चले आते हैं जनाज़े पे

हाल पूछती नहीं दुनिया ज़िंदा लोगो का ,
चले आते हैं जनाज़े पे बारात की तरह …

Urdu and Hindi Shayari – Janaza Shayari – Chalae Aate Hain Janazae Pe

वो शख्स देर तक सोया नहीं

ग़म की बारिश ने भी तेरे नक़्श को धोया नहीं
तुम ने मुझे खो दिया मेंने तुझे खोया नहीं

नींद का हल्का गुलाबी सा खुमार था उस की आँखों में
यूं लगा जैसे वो शख्स देर तक सोया नहीं

जानता हूँ एक ऐसे शख्स को में भी मुनीर
ग़म से पत्थर हो गया मगर कभी रोया नहीं

urdu and hindi shayari , Gham shayari – Gham ki barish ney bhi tere naqsh ko dhoya nhi

शिकायत

शिकायत यह नहीं की , वो नाराज़ है हमसे
मुस्कुराने का हक़ भी छीना , इस बात का ग़म है
शिकायत यह नहीं की , दिल पे मेरे ज़ख्म दिया
कराहने का हक़ भी छीना , बस इस बात का ग़म है

Hindi and urdu shayari – Shikayat Shayari – Shikayat Ye Nahi Ke

वो तो खुश्बू है हवाओं में बिखर जाएगा

वो तो खुश्बू है हवाओं में बिखर जाएगा
मसला फूल का है फूल किधर जाएगा

हम तो समझे थे के एक ज़ख्म है , भर जाएगा
क्या खबर थी के रग -ऐ -जान में उतर जाएगा

वो हवाओं की तरह खाना -बेजान फिरता है
एक झौंका है जो आएगा गुज़र जाएगा

वो जब आएगा तो फिर उस की रफ़ाक़त के लिए
मौसम -ऐ -गुल मेरे आँगन में ठहर जाएगा

आख़िर वो भी कहीं रेत पे बैठी होगी
तेरा यह प्यार भी दरिया है उतर जाएगा

Hindi and urdu shayari – Gam-AE-mohabbat Shayari – wo to Khushbu hai hawaaon mein bikhar jaayegaa

आईना

जो दिल के आईने में हो ,
वही है प्यार के क़ाबिल
वरना दीवार के क़ाबिल तो हर तस्वीर होती है

Hindi and urdu shayari – Gam-AE-mohabbat Shayari – Jo Dil Ke Aainey Mein Ho

गम-ऐ-मुहब्बत

वो जो बिछड़ा तो मैंने जाना
लोग मर मर कर भी जिया करते हैं ..!!

Hindi and urdu shayari – Gam-AE-mohabbat Shayari – Who Jo Bichra Tu Main Ne Jana

दिल का आलम

सिर्फ चेहरे की उदासी से भर आए आँसू
दिल का आलम तो अभी आप ने देखा ही नहीं …

Hindi and urdu shayari – Gam-AE-mohabbat Shayari – Sirf chehray ki Udasi say bhar aye Ansoo

फ़िज़ा मैं बिखरी ज़र्द आंसुओं की तहरीरें
दाग़ -ऐ -गुल मैं दरख्तों के दाग़ मिलते हैं
गलत गुमान न कर मेरी इन खुश्क आँखों पे
समंदर मैं जज़ीरे ज़रूर मिलते हैं

Urdu and Hindi Shayari – ansuoon(आंसुओं) shayari – fiza mien bikhri zard ansuoon ki tehrerein

यह बेवफ़ा ज़िन्दगी भी तुम्हारे नाम करते हैं ‘ फ़राज़ ‘
सुना है खूब बनती है बेवफा से बेवफा की

Yeh Bewafa Zindagi Bhi Tumhare Naam karte hain ‘Faraz’
Suna hai Khoob Banti hai Bewafa Se Bewafa Ki

Urdu and Hindi Shayari – Bewafa(बेवफ़ा ) shayari – Yeh Bewafa Zindagi Bhi Tumhare Naam karte hain ‘Faraz’\