देश भक्ति की शायरी , गाथाएँ और किस्से – देश की खातिर जो जीते है

 

हमारा यह पेज देश भक्ति और देश के बलिदान की गाथाओं से प्रेरित है  ।
हमारा प्रयास देश भक्तों और देश के नौजवानों को देश भक्ति की गाथाओं से प्रेरित कर उन्हें राष्ट्र एकता के एक धार सुतर में बांध कर एक जुट करना है  । यह हमारा प्रयास हमारे देश के वीर जवानों को एक श्रद्धांजलि है जिन्होंने अपने लहू का बलिदान दे कर इस देश के दुश्मनो से देश का गौरव और गरिमा को हमेशा बचाया है और अपने देश का सर कभी झुकने नहीं दिया है  ।

जय भारत , जय हिंदुस्तान , जय हो

 

मेरी हार का ऐलान

गली गली में हुआ मेरी हार का ऐलान
यह कौन जाने मैं तो विसात पर ही न था

PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – Inqalabi Shayari – गली गली में हुआ मेरी हार का ऐलान 
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

इंक़लाबी शायरी

बे हिम्मंते न जो के शिकबा करदे मुक़दरा दा
उगण वाले उग पेंदे न छीना फाड़ के पथरा दा
मंजिल दे मथे ते तख्ती लगदी उना दी
जो घरों बनाके तुरदे न नक्शा अपने सफ़रा दा

कवि – बाबा नजमी
PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – Inqalabi Shayari – बे हिम्मंते न जो के शिकबा करदे मुक़दरा दा
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

बाबा नजमी – कलाम

तू क्यों तोड़े मस्जिद मेरी
में क्यों तोडा गुरूद्वारे नू
तू क्यों तोड़े मस्जिद मेरी
में क्यों तोडा मंदिर नू
आजा सारे मिल के पढ़िए
एक दूजे दे अंदर नू

PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – देश भक्ति की गाथाएँ – तू क्यों तोड़े मस्जिद मेरी
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

मेरा देश जल रहा है

किसी को क्या सुनाऊँ , मेरा देश जल रहा है
मैं ख़ुशी कहाँ से लाऊँ , मेरा देश जल रहा है
तम्हें यह गिला है दोस्त क्यों है मिज़ाज बेरहम
कहो कैसे मुस्कुराऊँ , मेरा देश जल रहा है
तुम्हें तीज त्यौहार की ख़ुशी है , मुझे याद है वो लेकिन
मैं यह कैसे भूल जाऊं , मेरा देश जल रहा है
है डगर डगर असारत , है क़दम क़दम शहादत
सर -ऐ -राह न डगमगाओ , मेरा देश जल रहा है
मेरा ज़ख़्मी ज़ख़्मी है सीना , तो लहू लहू है पसीना
मैं निशात कैसे पाऊँ , मेरा देश जल रहा है

PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – देश भक्ति की गाथाएँ – मेरा देश जल रहा है
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

सबसे पहले अपना हिन्दुस्तान

हाथों में अपने गीता रखेंगे
दिल में अपने कुरान रखेंगे
मेल बढ़ाये जो आपस में ऐसा हम धर्म एक ईमान रखेंगे
शंख बजांगे हम और अमन की हम एक ऐसी अज़ान रखेंगे
आओ मेरे साथियों तुम्हारा कावा भी रहेगा तुम्हारी काशी भी रहेगी
मगर हम तुम सब मिल के सबसे पहले अपना हिन्दुस्तान रखेंगे

PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – देश भक्ति की गाथाएँ – सबसे पहले अपना हिंदुस्तान
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

मेरा हिंदुस्तान रोशन होगा

बात यह हवाओं को बताये रखना
मेरा हिंदुस्तान रोशन होगा , दिये जलाये रखना
रखा है जिसको महफूज़ अपना लहू बहाकर
दिल में सदा उस तिरंगे को बसाये रखना

जय भारत , जय हिंदुस्तान

PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – देश भक्ति की गाथाएँ – Mera Hindustan Roshan Hoga, Diye Jalaaye Rakhna
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

सरफ़रोशी की तमन्ना

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ऐ-क़ातिल में है
वक़्त आने पर दिखा देंगे तुझे ऐ आसमान
हम अभी से क्यों बताएं क्या हमारे दिल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ऐ-क़ातिल में है

जय भारत , जय हिंदुस्तान

PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – देश भक्ति की गाथाएँ – Sarfroshi ki tamanna ab hamare dil mein hai
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

जो वतन पर मिट जाते है

खुशनसीब होते है वो जो वतन पर मिट जाते है
मर कर भी वो लोग अमर शहीद हो जाते है
करता हूँ तुम्हे सालम ऐ वतन पर मिट जाने वालो
तुम्हारी हर साँस के कर्ज़दार है हम देश वाले .

भारत माता की जय 
PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – Khushnaseeb Hai Wo Jo Watan Par Mit Jaate Hai
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

आबरू वतन की

आबरू वतन की आज यूं बचा के लाये है
फ़ौज अपनी यूं लड़ी की दुश्मन को हरा के आये है
दुश्मन के काफिलों को हम आग में जल के आये है
सपूत-ऐ-हिन्द बन के दुश्मन को राख में मिला आये है

भारत माता की जय 
PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – Aabroo Watan Ki Aaj yoon bachake laye hai
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

मेरे वतन मेरी हस्ती

मेरे वतन मेरी हस्ती का मुंतहा तू है
मेरे ख्याल की नुदरत तेरी जबीं तक है
मैं उड़ती खाक सही तेरे कारवां की हूँ
मेरे फलक की बुलंदी तेरी ज़मीं तक है

PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – Mere watan meri hasti ka munthaa tu hai
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

हम फौजी

तुम फौजियों से मोहब्बत क्यों करते हो
हम फौजियों से मोहब्बत न किया करो
हमारे जनाजे हमेशा जवान उठते हैं
और मेरी माँ यह सुन कर रो दिया करती थी
कहीं जो तुम्हें मेरी माँ मिले तो उसे कहना
दरवाजे की चोखट पर बैठ कर मेरा इंतज़ार न किया करे
तुम मेरी माँ से कहना ,वो रोया न करे

PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES- Tum Faujiyon Se Mohabbat Kyun Karte Ho
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

फकत सच

फकत सच को ही सच कहने का अदि हूँ
मैं अपने शहर का सबसे बड़ा फसादी हूँ

PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES – fakat sach ko hi sach kehne ka adi hoon
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

मिटटी की फिदरत

जो मुँह को आ रही थी वो लिपटी है पाँवों से
बारिश के बाद मिटटी की फिदरत बदल गयी

PATRIOTIC SHAYARI AND MESSAGES- jo muh ko aa rahi thi wo lipti hai paoon se
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

यह गुलिस्ताँ

वतन को लहू की ज़रुरत पड़ी
सब से पहले हमने हामी भरी
फिर भी कहते हैं हम से यह ऐहल-ऐ-वतन
यह गुलिस्ताँ है हमारा तुम्हारा नहीं .

Patriotic shayari and messages – Mere watan ki shayari – Watan ko lahoo ki zaroorat padi
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

वो यक़ीनन सुनेगा

ज़ालिमों अपनी किस्मत पे नाजां न हो
दौर बदले गया यह वक़्त की बात है .
वो यक़ीनन सुनेगा सदाए मेरी
क्या तुम्हारा खुद है हमारा नहीं

Patriotic shayari and messages – Mere watan ki shayari – Kya tumhaara khuda hai hamaara nahi
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

आगे होंगे हिंदुस्तानी

क़दम बढ़ाओ ,हाथ मिलाओ ,एकता में शान है
हिंदुस्तान की हम पहचान है , हिंदुस्तान हमारी जान है
जायेंगे जिस और भी , रहेगें हम हिंदुस्तानी
कर्म से , धर्म से , आगे होंगे हिंदुस्तानी

Patriotic shayari and messages – Desh Bhakti ki shayari – Hindustan ki hum pehchaan hai , Hindustan hamari jaan

देश की खातिर

मौत के बाद तो सभी सकूँ पा लेते है
देश की खातिर जो जीतें है , ज़िंदगी वो ही जीतें है
खून तो हर एक की रगो मैं दौड़ता है
मगर लहू वही होता है जो देश के काम आता है

Patriotic shayari and messages – Desh Bhakti ki shayari – Desh ki khatir jo jitein hai
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

मेरे वतन

बस एक ख़याल से ज़िंदा हैं , तू हमारा है
जो तू है तो हमारा वजूद है जीने मैं
नहीं तो कोई मजा नहीं इस जीने मैं ,मेरे वतन
मेरे वतन , तू हमारे सर का ताज है , हमारी इज़्ज़त हमारा राज है
लाखो दिलो पर तेरा राज है ,तू आज है और तू कल है ,तू ही क़ायनात है
मेरे वतन ,मेरे वतन ,मेरे वतन

Patriotic shayari and messages – Desh Bhakti ki shayari – Jo tu hai to hamara wajood hai jeene main
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

अपनी सरजमीन

मेरे लिए इतना काफी है के
मैं अपनी सरज़मीं पर मौत देखूं
और इस मिटी में पिघल कर फैल जाऊं
फिर फूल बन कर ज़मीन से बहार निकलूं
मेरे देश के बच्चे इस के साथ खेलें
मेरे लिए इतना ही काफी है
के में अपने वतन की गोद में रहूँ

Patriotic shayari and messages – Desh Bhakti ki shayari – Mein apni sarzameen per maut dekhoon
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

सब का वतन

ये नफरत बुरी है , न पनपने दे इसे
दिलो में बैर है , तो मिटा दो इसे
न तेरा ,न मेरा ,न इसका , न उसका
यह सब का वतन है , यह सब का आँगन है

Patriotic shayari and messages – Desh Bhakti ki shayari – Yeh Sab Ka Watan Hai
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

शहीदों की शहादत

आओ देश का सम्मान करे
शहीदों की शहादत याद करे
नमन करे उन भारत के वीर सपूतो को
जिन्होंने मातृ-भूमि की खातिर बलिदान दिया
फिर एक बार अपने राष्ट्र की कमान हम अपने हाथ धरे
आओ स्वंतंत्र दिवस का मान करे . जय भारत

Patriotic shayari and messages – Desh Bhakti ki shayari – Shahido Ki Shahadat Yaad Kare
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

इन्साफ की बातें

चढ़ते सूरज को सलामी होती हैं
गर्दिश में हो तारे तो हर चीज़ बेईमानी होती है
जवां जिस्मों की राहों में सभी पलकें बिछाते हैं
कोई बेबस बुढ़ापे को , सहारा क्यों नहीं देता
दौलत के धागों से बंधे हैं अब तो सब रिस्ते
मुफलिस की मय्यत को , कोई कंधा नहीं देता
ना कर इन्साफ की बातें ,यहाँ मुजरिम ही मुफलिस है
बापू और भगत सिंह को कोई जीने नहीं देता
अपने नयन का “नीर ” ही पीता रहा हूँ मैं
मयकदों में अब , कोई पीने नहीं देता

Patriotic shayari and messages – Desh Bhakti ki shayari  – Naa Kar Insaaf Ki Baaten,Yahan Mujrim Hi Munsif Hai
Like it
[Total: 23763 Average: 3.1]

5 thoughts on “देश भक्ति की शायरी , गाथाएँ और किस्से – देश की खातिर जो जीते है

  1. Mujhe aapki post bahut nice lagi MUJHE Aapki post read kar mujhe bahut better feel hua aapka very very thank you

आओ बातें करें और हमारे पोस्ट के बारे में हमे बताइये - Please Post the comment