फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत उर्दू शायरी

फ़राज़ और मोहसिन नक़वीARI

 

तन्हाई और महफ़िल – फ़राज़

तन्हाई में जो चूमता है मेरे नाम के हरूफ फ़राज़
महफ़िल में  वो शख्स मेरी तरफ देखता भी नहीं ​

दो लाइन उर्दू शायरी  – फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत शायरी – तन्हाई और महफ़िल – फ़राज़

 

Tanhai Aur Mehfil – Faraz

Tanhai main jo chomta hai mere naam ke haroof  “Faraz”
Mehfil mein wo shakhas meri taraf dekhta bhi nahi​

TWO LINE URDU SHAYARI – FARAZ AUR MOHSIN NAQVI SHAYARI – ANKEN – MOHSIN NAQVI
Like it
[Total: 2147 Average: 3]

जिंदगी और मौत – फ़राज़

कोई न आएगा तेरे सिवा मेरी जिंदगी में  “फ़राज़” 
एक मौत ही है जिस का हम वादा नही करती ​

दो लाइन उर्दू शायरी  – फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत शायरी – तन्हाई और महफ़िल – फ़राज़

 

Zindgi Aur Maut – Faraz

Koi na ayega tere siwa meri zindgi main “Faraz”
Ek maut hi hai jiss ka hum wada nahi karte

TWO LINE URDU SHAYARI – FARAZ AUR MOHSIN NAQVI SHAYARI – ANKEN – MOHSIN NAQVI
Like it
[Total: 2147 Average: 3]

मिज़ाज़ और धड़कन – फ़राज़

कितना नाज़ुक मिज़ाज़ है  उसका  कुछ न पूछिये  “फ़राज़” 
नींद नही आती उन्हें धड़कन के शोर से ​

दो लाइन उर्दू शायरी  – फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत शायरी – मिज़ाज़ और धड़कन – फ़राज़

 

Mizaz Aur Dhadkan – Faraz

Kitna nazuk mizaz hai uska kuch na puchiay “Faraz”
Neend nhi ati unhe Dhadkan ke shor se​

TWO LINE URDU SHAYARI – FARAZ AUR MOHSIN NAQVI SHAYARI – ANKEN – MOHSIN NAQVI
Like it
[Total: 2147 Average: 3]

खुश और उदास – फ़राज़

वो मुझ से बिछड़ कर खुश है तो उसे खुश रहने दो “फ़राज़ “
मुझ से मिल कर उस का उदास होना मुझे अच्छा नहीं लगता

दो लाइन उर्दू शायरी – फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत शायरी – खुश और उदास – फ़राज़

 

Khush Aur Udaas – Faraz

Wo mujh se bichad kar khush hai to usse khush rehne do “Faraz”
Mujh se mil kar us ka udass hona muje acha nai lagta

TWO LINE URDU SHAYARI – FARAZ AUR MOHSIN NAQVI SHAYARI – ANKEN – MOHSIN NAQVI
Like it
[Total: 2147 Average: 3]

बेवफा और ज़िंदगी – फ़राज़

वो बेवफा ही सही, आओ उसे  याद कर लें  “फ़राज़” 
अभी ज़िंदगी बहुत पड़ी है, उसे भुलाने के लिए ​

दो लाइन उर्दू शायरी– फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत शायरी – बेवफा और ज़िंदगी – फ़राज़

 

Bewafa Aur Zindgi – Faraz

Wo bewafa hi sahi aao usse yaad kar lein “Faraz”
Abhi zindgi bahut padi hai usse bhulane ke liye​

TWO LINE URDU SHAYARI – FARAZ AUR MOHSIN NAQVI SHAYARI – ANKEN – MOHSIN NAQVI
Like it
[Total: 2147 Average: 3]

आँखें – मोहसिन  नक़वी 

तेरी कम गोइ के चर्चे हैं ज़माने भर में  “मोहसिन”
किस से सीखा है यूँ आँखों से बातों की वज़ाहत करना ​

दो लाइन उर्दू शायरी – फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत शायरी – आँखें –मोहसिन  नक़वी 

 

Anken – Mohsin Naqvi

Teri kam goi ke charche hain zamane bhar main “Mohsin”
Kis se seekha hai yun ankhon se baton ki wazahat karna​

TWO LINE URDU SHAYARI – FARAZ AUR MOHSIN NAQVI SHAYARI – ANKEN – MOHSIN NAQVI
Like it
[Total: 2147 Average: 3]

हाथों की लकीरें – मोहसिन  नक़वी 

अपने हाथों की लकीरें न बदल पाया  “मोहसिन” 
खुशनसीबो से बहुत हाथ मिलाये हम ने ​

दो लाइन उर्दू शायरी – फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत शायरी – हाथों की लकीरें – मोहसिन  नक़वी 

 

Hathon ki Lakeerain – Mohsin Naqvi

Apne hathon ki lakeerain na badal paya “Mohsin”
khush naseebo se bahut hath milay hum ne​

Two Line Urdu shayari – Faraz aur Mohsin Naqvi Shayari – Anken – MOHSIN NAQVI
Like it
[Total: 2147 Average: 3]

 

Originally posted 2017-07-08 05:59:56.

Related Post

Author: manytalk

आओ बातें करें और हमारे पोस्ट के बारे में हमे बताइये - Please Post the comment