तेरा इंतज़ार तेरी जुस्तजू – शायरी

justju

 

तेरा इंतज़ार

इतना ऐतबार तो अपनी धड़कनों पर भी हमने न किया ;
जितना आपकी बातों पर करते हैं ;
इतना इंतज़ार तो अपनी साँसों का भी न किया ;
जितना आपके मिलने का करते हैं !

हिंदी और उर्दू शायरी – इंतज़ार शायरी – तेरा इंतज़ार

 

Tera Intezar

Itna Aitbaar To Apni Dhadkanon Par Bhi Humne Na Kiya;
Jitna Aapki Baaton Par Karte Hain;
Itna Intezar To Apni Saanson Ka Bhi Na Kiya;
Jitna Aapke Milne Ka Karte Hain!

Hindi and urdu shayari – Intezar shayari – Tera Intezar
Like it
[Total: 2552 Average: 2.9]

आँखों में इंतज़ार होता है

रूठी हुई आँखों में इंतज़ार होता है ;
न चाहते हुए भी प्यार होता है ;
क्यों देखते हैं हम वो सपने ;
जिनके टूटने पर भी उनके सच होने का इंतज़ार होता है !

हिंदी और उर्दू शायरी – इंतज़ार शायरी – आँखों में इंतज़ार होता है

 

Aankhon Mein Intezar Hota Hai

Ruthi Hui Aankhon Mein Intezar Hota Hai;
Na Chahte Hue Bhi Pyar Hota Hai;
Kyun Dekhte Hain Hum Wo Sapne;
Jinke Tutne Par Bhi Unke Sach Hone Ka Intezar Hota Hai!

Hindi and urdu shayari – Intezar shayari – Aankhon Mein Intezar Hota Hai
Like it
[Total: 2552 Average: 2.9]

तेरी आँखो में जहाँ देखता हूँ

तेरी आँखो में जहाँ देखता हूँ
मैं अपनी नज़रो से तुझे देखता हूँ
तुम ढूँढ रही होगी मुझको वहां
और मैं जमानो से तेरी राह यहाँ देख रहा हूँ

हिंदी और उर्दू शायरी – इंतज़ार शायरी – तेरी आँखो में जहाँ देखता हूँ

 

Teri Aankhon mein jahan dekhta hoon

Teri Aankhon mein jahan dekhta hoon
main apni najroon se tujhe dekhta hoon
Tu Dhoodh Rahi Hogi Mujhko Wahan
Aur Mein jamano Se Teri Raah Dekh Raha Hoon

Hindi and urdu shayari – Intezar shayari – Teri Aankhon mein jahan dekhta hoon
Like it
[Total: 2552 Average: 2.9]

इंतज़ार की हद

दिल दिया ऐतबार की हद थी
जान दी यह मेरे प्यार की हद थी
मर गए लेकिन रही मेरी आँखें
यह तो तेरे इंतज़ार की हद थी

हिंदी और उर्दू शायरी – इंतज़ार शायरी – दिल दिया ऐतबार की हद थी

 

Intezar Ki Had Thi

Dil Diya Aitbar Ki Had Thi
Jaan De Dih Yeh Mere Pyar Ki Had Thi
Mar Ke Bhi Aankhen Khuli Reh Gayi
Aur Kuch Nahi Yeh Teri Intezar Ki Had Thi

Hindi and urdu shayari – Intezar shayari – Dil Diya Aitbar Ki Had Thi
Like it
[Total: 2552 Average: 2.9]

तेरा इंतज़ार तेरी जुस्तजू

तेरा इंतज़ार तेरी जुस्तजू
यह ही करते है , इसी की तमना है
हम से पूछिये इंतज़ार की स्याह -रात
जब वो गए थे फिर न लौट आने के लिए

हिंदी और उर्दू शायरी – इंतज़ार शायरी – तेरा इंतज़ार तेरी जुस्तजू

 

Tera Intezar Teri justju

Tera Intezar teri justju
yeh hi karte hai , isi ki tamana hai
hum se puchiye intizar ki syah-raat
jab wo gaye the phir na laut ane le liye

Hindi and urdu shayari – Intezar shayari – tera Intezar teri justju
Like it
[Total: 2552 Average: 2.9]

 

1 thought on “तेरा इंतज़ार तेरी जुस्तजू – शायरी

  1. जिद मेरी ही है तुम्हे पाने की
    क्योकि प्यार मेरा दिल तेरा
    Durgesh mishra dk

आओ बातें करें और हमारे पोस्ट के बारे में हमे बताइये - Please Post the comment