गज़ब किया जो तेरे वादे पे एतबार किया – Mir Dagh Dhelvi

तेरे वादे पे एतबार किया

गज़ब किया जो तेरे वादे पे एतबार किया
तमाम रात हमने क़यामत का इंतज़ार किया

न पूछ दिल की हक़ीक़त मगर यह कहतें है
वो बेक़रार रहे जिसने बेक़रार किया

Hindi and Urdu Shayari , Shayari , शायरी , Poet: Mir Dagh Dhelvi
Like it
[Total: 33 Average: 3]