रूह-ऐ-मोहबत शायरी

 

 

मोहब्बत की आग

करते है मोहब्बत और जताना भूल जाते है
पहले खफा होते हैं फिर मनना भूल जाते है
भूलना तो फितरत सी है ज़माने की
लगाकर आग मोहब्बत की बुझाना भूल जाते है

URDU MEHFIL SHAYARI – MEHFIL SHAYARI – LAGAKAR AAG MOHABBAT KI BUJHANA BHOOL JATE HAI
Like it
[Total: 1198 Average: 3]

मैं अश्क़ हूँ

मैं अश्क़ हूँ मेरी आँख तुम हो
मैं दिल हूँ मेरी धडकन तुम हो
मैं जिस्म हूँ मेरी रूह तुम हो
मैं जिंदा हूँ मेरी ज़िन्दगी तुम हो
मैं साया हूँ मेरी हक़ीक़त तुम हो
मैं आइना हूँ मेरी सूरत तुम हो
मैं सोच हूँ मेरी बात तुम हो
मैं मुकमल हूँ जब मेरे साथ तुम हो
मैं तुम मैं हूँ अब तुम ही हो , अब तुम ही हो

URDU AND HINDI SHAYARI – ASHQ SHAYARI– MAIN ASHQ HOON MERI ANKH TUM HO

Like it
[Total: 1198 Average: 3]

किस्मत

हम ने भी मोहब्बत की थी मगर
कुछ भी न मिला हसरत के सिवा
तुम ने भी हमें इलज़ाम दिया
क्या कहें इसे किस्मत के सिवा

Urdu and Hindi Shayari – Sahir Ludhianvi Shayari – kuch bhi na mila hasrat k siwa

उसे मोहब्बत कहते हैं

आसानी से कोई मिल जाये तो वो किस्मत का साथ है ,”दोस्तों ”
सब कुछ खो कर भी , जो न मिली उसे मोहब्बत कहते हैं .

Hindi and urdu shayari – ishq aur mohabbat Shayari – Asani se koi mil jaye to wo kismat ka sath hai,”Dosto”

मुहब्बत की जुबां

जुबां तो कह नहीं सकती , तम्हें एहसास तो होगा
मेरी आँखों को पढ़ लेना मुझे तुम से मुहब्बत है

Hindi and urdu shayari – Muhabbat ka Ehsas Shayari – Zubaan to keh nahi sakti

मुहब्बत और दर्द

इस बहते दर्द को मत रोको
यह तो सजा है किसी के इंतज़ार की
लोग इन्हे आंसू कहे या दीवानगी
पर यह तो निशानी हैं किसी के प्यार की …!

Hindi and urdu shayari – Muhabbat ka Ehsas Shayari – Is Behte Dard Ko Mat Roko

मुहब्बत के दीवाने

जिस बस में बैठी हो हसीनाएं
उस बस के सीसे चिटक ही जाते है
ड्राइवर चाहे जितनी तेज़ चलाये बस
दीवाने तो फिर भी लटक ही जाते है

Hindi and urdu shayari – Muhabbat ka Ehsas Shayari – Jis Bus Me Baithi Ho Hashinaye

मुहब्बत और ग़म

माना की तुम्हें मुझसे ज्यादा ग़म होगा ,
मगर रोने से यह ग़म कभी न काम होगा ,
जीत ही लेंगे दिल की नाकाम बाजियां हम ,
अगर मुहब्बत में हमारी दम होगा …

Hindi and urdu shayari – Muhabbat ka Ehsas Shayari – Mana Ki Tumhein Mujhse Jyada Gham Hoga

मुहब्बत और किस्मत

किस्मत से अपनी मुझको हमेशा शिकायत रहेगी ,
जो न मिल सका उससे मुहब्बत रहेगी ,
कितने ही क्यों न आ जाएं रहो में ,
फिर भी दिल को उसी से चाहत रहेगी

Hindi and urdu shayari – Muhabbat ka Ehsas Shayari – Kismat se apni mujko hamesha Shikayat rahegi

मुहब्बत का अंजाम

प्यार का अंजाम कौन सोचता है ,
चाहने से पहले नियत कौन देखता है .
मुहब्बत है एक अँधा एहसास ,
करते हैं सब पर मुकाम कौन जानता है

Hindi and urdu shayari – Muhabbat ka Ehsas Shayari – Na koi ilzaam, Na koi tanz, Na koi ruswai Mir

गुरूर तो होना था उनको हमारी मोहब्बत की शिद्दत देख कर
मगर वो इस गरूर की सोच में हमारी कीमत भूल गए …

Mohabbat ki Shayari,शायरी – Guroor to hona tha unko hmari mohabbat ki shiddat dekh kar

मुझे छोड़ के वो खुश है तो शिकायत कैसी …!!
अब मैं उसे खुश भी न देख सकूँ तो मोहब्बत कैसी …!!

Mohabbat ki Shayari,शायरी , Mujhe chod K Wo Khush Hai To Shikayat Kesi

अजीब हालात  होते हैं इस मुहब्बत में दिल के ,
उदास जब भी यार हो क़सूर अपना लगता है ..

Mohabbat ki Shayari,शायरी ,  Ajeeb halaat hote hain is Muhabbat mein

क्या बुरा है के मैं मोहब्बत कर लूँ ,
लोग वैसे भी तो कहते हैं गुनहगार हूँ में ..

Mohabbat ki Shayari,शायरी , Kya Bura Hai Ke Main Mohabbat

कहना ही पड़ा उसे यह खत पढ़कर हमारा …
कमबख्त की हर बात मोहब्बत से भरी है ….

Mohabbat ki Shayari,शायरी , Kehna hi pada use yeh khat padhkar

वो मेरी मोहब्बत से इंकार कर देता तो अच्छा होता ..,
.
ऐ दोस्त
.
वरना बर्बाद तो उसके इज़हार ने भी कर दिया 

Mohabbat ki Shayari,शायरी , Wo meri mohabbat se inkar kar deta

हम ने आगोश-ऐ -मोहब्बत से ये सीखा है सबक ,
जिस को ज़िंदा नहीं रहना वो मुहब्बत कर ले …

Mohabbat ki Shayari,शायरी , Hum Ne Aghosh-E-Mohabbat Se

क्या फर्क है दोस्ती और
मोहब्बत
में .. .. .. .. ..?? ??
.
.
रहते तो दोनों दिल में ही हैं
लेकिन ,
फर्क बस इतना है .. ..
.
.
बरसों बाद मिलने पर
मोहब्बत नज़र चुरा लेती है .. .. .. ..
और
दोस्ती ..
सीने से लगा लेती है ..!!

Mohabbat ki Shayari,शायरी , Kya Fark Hai Dosti Aur Mohabbat Mein