Recent Posts

Qaatil
Posted in Public Post

तू जो नहीं तो बिन तेरे शामें उदास हैं

    छलक पड़ेंगे आँसू  जो ज़रा किसी ने छेड़ा छलक पड़ेंगे आँसू  कोई मुझ से यूँ न पूछे तेरा दिल उदास क्यों है हिंदी…

Continue Reading...
Posted in Public Post

पंजाबी और उर्दू शायरी – हीर राँझा शायरी

  याद सब नू आखरी सलाम रह जाँदै न ​ जेल बिच बंद ग़ुलाम रह जाँदै न किताबां बिच लिखे पैग़ाम रह जाँदै न पहली…

Continue Reading...
ANKHEN MILAO GAIR SE
Posted in Public Post Shayar and Poet Shayari

आँखें मिलाओ ग़ैर से – मिर्ज़ा ग़ालिब

आँखें  मिलाओ ग़ैर से – मिर्ज़ा ग़ालिब कहना ग़लत ग़लत तो छुपाना सही , सही क़ासिद कहा जो उस ने बताना सही सही यह सुबह सुबह…

Continue Reading...
Mera Humsafar
Posted in Public Post Shayari

ग़ज़ल – वो मेरा हमसफ़र हुआ भी तो लम्हा भर

  हम तो अकेले रहे हमेशा रहेगा यह आलम कहाँ यह महफ़िल कहाँ और यह हमदम कहाँ सदा चोट पर चोट खाता रहा मुक़द्दर में…

Continue Reading...