चलते चलते यूँही….. Very Distinctive Shayari Collection.

 

प्यार की तड़प

प्यार की तड़प को दिखाया नहीं जाता
दिल में लगी आग को बुझाया नहीं जाता
कितनी भी दूरी हो प्यार में मगर
आप जैसे दोस्त को भुलाया नहीं जाता

URDU AND HINDI SHAYARI – PYAR SHAYARI– DIL MEIN LAGI AAG KO BHUJAYA NAHI JATA
Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

खुशबु

अपने शख्सियत को मौसम से बचाए रखना
लौट कर फूल में वापिस नहीं आती खुशबु

Urdu and Hindi Shayari – khushbu Shayari– Apne shaksiyat ko mausam se
Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

आँसू की तरह

दिल में धड़कन की तरह आँख में आँसू की तरह
तुम मेरे पास रहो फूल की खुशबू की तरह

Urdu and Hindi Shayari – Aansu Shayari– Dil mein dhakan ki tarha
Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

आपकी तस्वीर

दिल टूटा तो एक आवाज़ आई
चीर कर देखा तो एक चीज़ निकल आई
सोचा क्या होगा इस खाली दिल में ,
लहू से धोकर देखा तो आपकी तस्वीर नज़र आई 

Urdu and Hindi shayari – Tasveer shayari – Aapki Tasveer Nazar Aayi
Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

राह -ऐ -जूनून

फ़ना न कर अपनी ज़िन्दगी को ऐ इंसान राह -ऐ -जूनून में
तब करेगा इबादत जब गुनाह करने की ताक़त न होगी

Urdu and Hindi shayari – Raah-ae-Junoon shayari – Fana na kar apni zindagi ko
Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

तुझसे नफरत बहुत ज़रूरी थी . . .
यह न करते , तो प्यार हो जाता

urdu and hindi shayari , Berukhi mein ishq ki shayari – Tujh Se Nafrat Bohat Zaroori Thi

अपनी मुस्कराहट को आप ज़रा काबू मैं कीजिए
दिल-ऐ -नादान कहीं इस पर कुर्बान न हो जाये .

urdu and hindi shayari , Mohabat ki shayari – Apni muskurahat ko aap zara
Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

दूर हमसे जा पाओगे कैसे …
हमको भूल पाओगे कैसे …
हम हु खुशबु हैं जो साँसों में उत्तर जाये …
खुद अपनी साँसों को रोक पाओगे कैसे ..

urdu and hindi shayari , Mohabat ki shayari – Door Humse Jaa Paoge Kaise

थाम के हाथ मेरा यूं कभी मुझ से रूठ न जाना ,,
हो जाये भूल मुझ से तो बस उस भूल को मेरी भूल जाना

urdu and hindi shayari , Mohabat ki shayari – Tham ke hath mera yun mera kabhi
Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

तेरी ख्वाहिश कर ली तो कौन सा गुनाह कर लिया हम ने ..!
लोग इबादत में पूरी कायनात मांग लेते हैं खुदा से

urdu and hindi shayari , Mohabat ki shayari – Teri Khwahish Kar li Toh Kon Sa Gunah

हमें न वफ़ा मिली न प्यार मिला …
हम को जो भी मिला संगदिल बेवफा यार मिला
अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी …
हर कोई अपनी मक़सद का तलबगार मिला ..

urdu and hindi shayari , Mohabat ki shayari – Hamain Na wafa Mili Na Pyar Mila
Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

यादें उन्ही की आती हैं जिन से कुछ तालुक हो
हर शख्स मोहब्बत की नज़र से देखा नहीं जाता …

urdu and hindi shayari , Mohabat ki shayari – Yaadein Unhi Ki Aati Hain 

हर बात का कोई मतलब नहीं होता
हर शह का कोई जवाब नहीं होता
इश्क़ तिजारत है खुदा की, हर तिजारत का कोई खरीददार नहीं होता
मकान तो बनते है रोज़, हर मकान को घर नसीब नहीं होता

urdu and hindi shayari- khudaa ki ibbadat shayari – har baat ka koi matlab nahi hota
Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

बस एक याद

गम की परछईया , यार की रूसवाइयां
वह रे मोहबत , तेरा ही दर्द और तेरी ही दवाइयाँ

कैसे लड़ूं मुक़दमा खुद से उसकी रुसवाइयों से
यह दिल भी वकील उसका और यह जान भी गवाह उसकी

न करो तक़रार , मुझे तुम्हारा ही ख्याल है
फिर बात से बात निकलेगी , और तुम रूठ जाओगे

तलाश-ऐ-वफ़ा से क्यों खुदी को आज़ियात देते हो
अब मान भी लो , दुनिया में कोई तेरे सिवा अपना नहीं है

अपनी तक़दीर से शिकबा करे भी तो क्यों , इसी तक़दीर ने
इसी तक़दीर ने उसे मिलाया भी तो है , और उसने भी अपनी पाक मोहबत में कोई कमी न रखी

न जाने इस जिद का नतीजा क्या हो
समझता दिल भी नहीं , तू भी नहीं , में भी नहीं , वादे बहुत करके भी

वो कहते है की कभी अकेला न छोड़गे तुम को
तुम चाह कर भी महसूस न कर पाओगे तन्हा कभी

 Urdu and Hindi Shayari – Dard ki Shayari , Bewafa , बेवफा , Yaad , pyaar , Yaar ki rusvaiyan
Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

Sabhi Ko Sabh Kuch Nahi Milta,
Nadi Ki Har Lehar Ko Sahil Nahi Milta,
Yeh Dil Walon Ki Dunia Hai Dost,
Kisi Se Dil Nahi Milta To Koi Dil Se Nahi Milta…

Urdu and Hindi Shayari – Dard ki Shayari , Bewafa , बेवफा

Unko Kahbar hai Mere Tute Armano Ki
Aaj Jarurat Padegi Kanch Ke Pemano Ki
Khali Na Hone Dena Jam Yaro
Varna Fir Se Yad Aa Jayegi Gujre Zmane Ki

Urdu and Hindi Shayari – Dard ki Shayari , Bewafa , बेवफा

कब तक हँसेगी यह तुमपे मेहरूमियों की शाम… 
वो शख्स बेवफा था उसे भुला भी दे

Urdu and hindi Shayari – Dard ki Shayari , Bewafa , बेवफा

चलते चलते, यूँही कोई मिल गया था, सरे राह चलते चलते
वही थम के रह गयी है मेरी रात ढलते ढलते

जो कही गयी ना मुझ से, वो ज़माना कह रहा है
के फ़साना बन गयी है, मेरी बात चलते चलते

शब-ए-इंतज़ार आखिर कभी होगी मुख़्तसर भी
ये चिराग बुझ रहे हैं मेरे साथ जलते जलते


मैँ लिखता हुं सिर्फ दिल बहलाने के लिए।
वरना जिस पर प्यार का असर नही हुआ उस पर
अल्फाजो का क्या असर होगा।


अब किस से करे उम्मीद वफाओं की,
जब वक़्त बदलता है हर चीज़ बदल जाती है……….


गलत नहीं था यूँ सब के लिए गलत हो जाना…
पर सही भी कहाँ है सब के लिए सही हो जाना…


कुछ सुंदर पंक्तियाँ…

किसी की मजबूरियाँ पे न हँसिये,
कोई मजबूरियाँ ख़रीद कर नहीं लाता..!
डरिये वक़्त की मार से,
बुरा वक़्त किसीको बताकर नही आता..!
अक्ल कितनी भी तेज ह़ो,
नसीब के बिना नही जीत सकती..!
बीरबल अक्लमंद होने के बावजूद,
कभी बादशाह नही बन सका..
ना तुम अपने आप को गले लगा सकते हो,
ना ही तुम अपने कंधे पर सर रखकर रो सकते हो..
एक दूसरे के लिये जीने का नाम ही जिंदगी है..!
इसलिये वक़्त उन्हें दो जो तुम्हे चाहते हों दिल से..
रिश्ते पैसो के मोहताज़ नहीं होते क्योंकि कुछ रिश्ते मुनाफा नहीं देते पर जीवन अमीर जरूर बना देते है…

Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

Qadam Ruk Se Gaye Hain Aaj Phool Bikte Dekh Kar
Wo Aksar Mujh Se Kehta Tha Dosti Phool Jesi hoti Hai…


Vishwas Ban ke Log Zindagi Me Aate Hai,
Khwab Ban ke Aankho Me Samaa Jaate Hai,
Pehle Yakeen Dilate Hai Ki Wo Hamare Hai,
Fir Na Jaane Kyu Badal Jaate Hai…


Kalpana Ke Kalpana

Kalpana Ke Kalpana se Main Kalapata Hi Rahaa
Chah Mai Ek Sadhana Ke Main Bhatakta Hi Rahaa

Kuchh Suman Chun Liye Main Ne Archana Ke Waste
Vandana Na Ho Sahii Khojata Mala Rahaa

Manju Main Dhundhi Surahi Wo Bhee Na Mujhako Mil Sakii
Lee Gayaa Makrand Bhavara Haath Malata Hi Rahaa

Rashami To Lakho Mili Per Koi Na Aapni Ban Sakii
Jal Gayaa Bhola Shalabh Deep Hasta Hi Rahaa

Trashana Hi Mujhako Mili Trapti Na Mujhako Mili
Ghut Bhar Madhu Main Sada Machalata Hi Rahaa

Hai Nahi Rekha Koi Jo Jeevan Rekha Ban Sake
Ek Veena Ke Liye Man Taar Kasata Hi Raha

Bhavna Ki Preet Main Kho Gaya Kuchh Is Tarah
Lut Gaya Sarvsav Aur Main Dekhata Hi Raha

Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

Ek dil mere dil ko jakhm de gaya
Jindagi bhar jeene ki kasam de gaya
Lakhoo phoolo mai ek phool chuuna tha jo humne,
kantoo ki si gahri chubhan de gaya.


Pyar Cheez Nahi Jataane Ki,
Hame Aadat Nahi Kisiko Bhulane Ki,
Hum Isliye Kam Milte Hain Aapse Kyunki,
Kuch Rishto Ko Nazar Lag Jati Hai Zamane Ki…


Aaj hum hai, kal hamari yaadein hongi,
Jab hum na honge, tab hamari baatein hongi,
Kabi yaad karoge zindagi ke wo pal,
tab shayad aapki aankho se bhi barsaatein hongi…

Like it
[Total: 4891 Average: 3.1]

Hume Na Mohabbat Mili Na Pyar Mila, Hum Ko Jo Bhi
Mila Bewafa Yaar Mila, Apni To Ban Gayi Tamasha
Zindgi, Har Koi Apne Maqsad Ka Talabgar Mila..


Hum Ne Suna Tha Ke Dost Wafa Karte Hain,
Jab Hum Ne Kia Bharosa To Riwayaat Hi Badal Gain…


Hum Ne Suna Tha Ke Dost Wafa Karte Hain,
Jab Hum Ne Kia Bharosa To Riwayaat Hi Badal Gain…
Wafaon Se Mukar Jana Humain Aya Nahi Ab Tak
Jo Waqif Na Hon Chahat Se Hum Un Se Zid Nahi Karte…


Teri har ndanee ko mein jmanay se nkarta aaya.
Par, Aakhri ki maine sja likh di.


Pal do pal ki kyun hai zindagi
Iss pyaar ko hai sadiyan kaafi nahi
Toh khuda se maang loon
Mohallat main ek nai
Rehanaa hai bas yahaan
Ab door tujhse jana nahi…
Jo tu mera humdard hai
Jo tu mera humdard hai


Khuda Gawaah hai

Mujhe guman hai ki chaha hai bahot zamane ne mujhe
mai aziz to sabka hun magar zarooraton ki tarah.

kitne mukhtasar hain meri khushi k lamhe faraz
mere muskurane se pahle hi guzar jate hain.

chahne wale muqaddar se mila karte hai faraz
usne is baat ko tasleem kiya magar mere jaane k bad.

aaj toot kar jo yad aayi uski to ehsaas hua
utar jaate hain jo dil me bhulaye nahi jate.

hum bikne gaye the bazar-e-mohabbat me faraz
kya pata tha dil walon ko log kharida nahi karte.

udasiyon se wabasta hai yeh zindagi meri sahi
khuda gawaah hai phir bhi tujhe hum yad karte hai.