khyal
Posted in Public Post

मेरी सोचें भी परेशान मेरे ख़्यालो जैसी

Share on Tumblr   मेरी सोचें भी परेशान मेरे ख़्यालो जैसी ज़ुल्फ़ रातों सी है रंगत है उजालों जैसी , पर तबियत है वही भूलने…

Continue Reading...
Posted in Public Post Shayar and Poet

चले भी आओ दुनिया से जा रहा है कोई – फ़राज़ की शायरी

Share on Tumblr   चले भी आओ दुनिया से जा रहा है कोई – फ़राज़  ग़म -ऐ- हयात का झगड़ा मिटा रहा है कोई चले…

Continue Reading...