Khuda ke Waaste
Posted in Public Post Shayari

बेखुदी बेसबब नहीं ‘ग़ालिब’ – Best Collection of “Ghalib”

Share on Tumblr     खुदा के वास्ते खुदा के वास्ते पर्दा न रुख्सार से उठा ज़ालिम कहीं ऐसा न हो जहाँ भी वही काफिर…

Continue Reading...
Yeh shaam tere naam
Posted in Public Post Shayari

यह उदास शाम और तेरी जुदाई – यह शाम तेरे नाम शायरी

Share on Tumblr वो रोज़ देखता है डूबते हुए सूरज को “फ़राज़ “ काश मैं भी किसी शाम का मँज़र होता…!!! शाम-ऐ-तन्हाई शाम से है…

Continue Reading...