उम्र भर तेरी मोहब्बत मेरी खिदमत रही

Khidmat Ke Qabil

 

 

तेरी खिदमत के क़ाबिल

उम्र भर तेरी मोहब्बत मेरी खिदमत रही
मैं तेरी खिदमत के क़ाबिल जब हुआ तो तू चल बसी

हिंदी और उर्दू शायरी – अल्लम इक़बाल शायरी – तेरी खिदमत के क़ाबिल

 

Teri Khidmat Ke Qabil

Umer Bhar Teri Mohabbat Meri Khidmat Rahi
Main Teri Khidmat Ke Qabil Jab Huwa Tu Chal Basi

Hindi and urdu shayari – Allama Iqbal ki (dedicated to maa) shayari – Teri Khidmat Ke Qabil
Like it
[Total: 112 Average: 3.1]

ऐ बेखबर

सौदागरी नहीं , यह इबादत खुदा की है
ऐ बेखबर ! जज़ा की तमन्ना भी छोड़ दे

हिंदी और उर्दू शायरी – अल्लम इक़बाल शायरी – ऐ बे -खबर

 

Ae Be-Khabar

Sodagari Nahin, Ye Ibadat Khuda Ki Hai
Ae Be-Khabar! Jaza Ki Tamanna Bhi Chor De

Hindi and urdu shayari – Allama Iqbal ki shayari – Ae Be-Khaba
Like it
[Total: 112 Average: 3.1]

इश्क़ क़ातिल से

इश्क़ क़ातिल से भी मक़तूल से हमदर्दी भी
यह बता किस से मुहब्बत की जज़ा मांगेगा
सजदा ख़ालिक़ को भी इबलीस से याराना भी
हसर में किस से अक़ीदत का सिला मांगेगा

हिंदी और उर्दू शायरी – अल्लम इक़बाल शायरी – इश्क़ क़ातिल से भी मक़तूल से हमदर्दी भी

 

Ishq Qatil Se

Ishq Qatil Se Bhi Maqtool Se Hamdardi Bhi
Ye Bata Kis Se Muhabbat Ki Jaza Maangay Ga
Sajda Khaliq Ko Bhi Iblees Se Yaarana Bhi
Hashr Mein Kis Se Aqeedat Ka Sila Maangay Ga

Hindi and urdu shayari – Allama Iqbal ki shayari – Ishq Qatil Se Bhi Maqtool Se Hamdardi Bhi
Like it
[Total: 112 Average: 3.1]

इक़रार -ऐ-मुहब्बत

इक़रार -ऐ-मुहब्बत ऐहदे-ऐ.वफ़ा सब झूठी सच्ची बातें हैं “इक़बाल”
हर शख्स खुदी की मस्ती में बस अपने खातिर जीता है

हिंदी और उर्दू शायरी – अल्लम इक़बाल शायरी – इक़रार -ऐ-मुहब्बत ऐहदे-ऐ.वफ़ा

 

Iqrar-ae-muhabbat

iqrar-ae-muhabbat Ehd-ae-wafa sub jhuti sachi batain hain “Iqbal”
Har shaks khudi ke masti main bas apne khatir jeta hai

Hindi and urdu shayari – Allama Iqbal ki shayari – iqrar-ae-muhabbat Ehd-ae-wafa
Like it
[Total: 112 Average: 3.1]

 

आओ बातें करें और हमारे पोस्ट के बारे में हमे बताइये - Please Post the comment