यक़ीन है मुझ को वो लौट आएगा – फ़राज़ शायरी

यक़ीन है मुझ को वो लौट आएगा – फ़राज़ शायरी 

यक़ीन है मुझ को वो लौट आएगा

अभी तो इश्क़ मैं ऐसा भी हाल होना है
के अश्क़ रोकना तुम से मोहाल होना है

हर एक लब पर है मेरी वफ़ा के अफ़साने
तेरे सितम को अभी लाजबाब होना है

तुम्हें खबर ही नहीं तुम तो लूट जाओगे
तुम्हारे हिजर मैं इक लम्हा साल होना है

हमारी रूह पे जब भी अजब उतरें है
तुम्हारी याद को इस दिल की ढाल होना है

कभी तो रोयेगा वो भी किसी की बाहों मैं
कभी तो उस की हंसी को ज़वाल होना है

मिलेंगे हम को भी अपने नसीब की खुशियाँ
बस इंतज़ार है कब यह कमाल होना है

हर एक शख्स चलेगा हमारी राहों पर
मोहबत में हम ही वो मिसाल होना है

ज़माना जिस के ख़म -ओ -पेच में उलझा जाए
हमारी ज़ात को ऐसा सवाल होना है

यक़ीन है मुझ को वो लौट आएगा
उसे भी अपने किये का मलाल होना है

उर्दू  और   हिंदी  शायरी  – फ़राज़ की शायरी – अभी तो इश्क़ मैं ऐसा भी हाल होना है – फ़राज़ शायरी 

Yaqeen Hai Mujh ko Wo Laut Ayega

Abhi to ishq main aisa bhi haal hona hai
Ke ashq rokna tum se mohaal hona hai

Har aik lab pe hai meri wafa ke afsanay
Tere sitaam ko abhi lazawab hona hai

Tumhain khabar hi nahin tum to loot jao gay
Tumharay hijar main ik lamha sal hona hai

Humari rooh pe jaab bhi azaab utrain hai
Tumhari yaad ko is dil ki dhaal hona hai

Kabhi to royega wo bhi kisi ki bahoon main
Kabhi to us ki hansi ko zawal hona hai

Milaygi hum ko bhi apne naseeb ki khushiyaan
Bas intizaar hai kab yeah kamaal hona hai

Har aik shaks chalayga humari rahoon par
Mohabat main humahin wo misaal hona hai

Zamana jis ke kham-o-pech main uljha jaye
Humari zaat ko aisa sawal hona hai

Yaqeen hai mujh ko wo laut ayega
Usay bhi apne kiye ka malal hona hai

Hindi and urdu Shayari – Faraz ki Shayari – Abhi to ishq main aisa bhi haal hona hai
Like it
[Total: 29 Average: 3.4]

आओ बातें करें और हमारे पोस्ट के बारे में हमे बताइये - Please Post the comment